ट्रैक के किनारे शौच करने पर पुलिस ने दिया थर्ड डिग्री, परिजनों ने घेरी RPF चौकी,सात हजार लेकर समीर को छोड़ा

कानपुर. पनकी थाना के अंतर्गत रेलवे ट्रैक के किनारे शौच करने पर पुलिस ने दो युवकों को पकड़ लिया। पुलिस उन्हें रेलवे स्टेशन पर मौजूद आरपीएफ चौकी ले गई और उन्हें थर्ड डिग्री दिया। यही नहीं, इनमें से एक युवक को पुलिस कर्मियों ने गायब कर दिया, जबकि दूसरे को छोड़ने के एवज में सात हजार रुपए लिए। जब ये बात सोमवार को पीड़ित के घरवालों को पता चली तो उन्होंने चौकी का घेराव कर जमकर हंगामा किया। वहीं, पुलिस का कहना है कि उन्हें नहीं मालूम है कि युवक कहां गया है।
जानकारी के मुताबिक, पनकी थाना के अंतर्गत भौतिखेड़ा गांव के दो युवक समीर और लखनलाल शनिवार को किसी काम के लिए घर से निकले थे। पीड़ित समीर का कहना है कि रास्ते में लखन शौच करने के लिए स्टेशन से करीब आधा किमी दूर रेल पटरी के किनारे चला गया। इसी दौरान आरपीएफ के दो सिपाही वहां पहुंचे और उन्हें देखते ही भड़क गए। वे उन्हें पकड़कर चौकी ले आए। समीर ने आरोप लगाया है कि सिपाहियों ने उन्हें पटरी काटकर चोरी करने की बात कबूलने को कहा। इसका विरोध करने पर चौकी इंचार्ज और दोनों सिपाहियों ने उन्हें जमकर पीटा।
rpf2_1439214221सात हजार लेकर समीर को छोड़ा
समीर के पिता सीताराम के अनुसार, जब शनिवार देर रात बेटा घर नहीं आया तो वे उन्हें ढूंढते हुए पनकी रेलवे स्टेशन पहुंचे। वहां आरपीएफ के सिपाहियों ने उन्हें कुछ भी बताने से मना कर दिया। फिर बाद में चौकी इंचार्ज ने उन्हें गाली देकर भगा दिया। देर रात उनमें से एक सिपाही का फोन आया। उसने कहा कि यदि बेटे को ले जाना चाहते हो तो सुबह 15 हजार रुपए लेकर थाने आ जाना। जब उन्होंने पैसे देने में असमर्थता जताई तो उन्होंने उसने फोन काट दिया। करीब 15 मिनट बाद उसने फिर फोन किया और 7 हजार रुपए लेकर आने को कहा।
rpf_1439214220पिटाई से बेहोश हो गया था लखन
रविवार की दोपहर उन्होंने सात हजार रुपए लेकर समीर को छोड़ दिया। घर आने पर समीर ने बताया कि पुलिस वालों ने लखन की इतनी बुरी तरह पिटाई की, कि उसकी तबियत खराब हो गई और वो बेहोश हो गया। इसके बाद सिपाही डर गए और उसके मुंह पर पानी की छींटे मारी, लेकिन उसे होश नहीं आया। उसके मुंह से झाग बी निकल रहा था। उसका हालत बिगड़ने पर पुलिस ने उसे दूसरे कमरे में बंद कर दिया। इसके बाद उसे नहीं पता कि लखन कहां है?
परिजनों ने लगाया हत्या का आरोप
इस घटना के बाद सोमवार को लखन के परिजन आरपीएफ थाने पहुंचे। उन्होंने चौकी का घेराव करते हुए जमकर हंगामा किया। दूसरी तरफ, लोगों का उग्र रूप देख आरपीएफ चौकी इंचार्ज विधु त्यागी और दोनों सिपाहियों को आला-अधिकारियों ने मौके से भगा दिया। इस पूरे मामले में कोई भी अधिकारी बोलने को तैयार नहीं है। परिजनों ने दोनों सिपाहियों और चौकी इंचार्ज पर हत्या का आरोप लगाया है। फिलहाल, परिजनों की तहरीर पर आगे की कार्रवाई की जा रही है।
Advertisements

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / Change )

Connecting to %s