लैंड पूलिंग फॉर्मूले से बसेगी न्यू कानपुर सिटी

KANPUR: न्यू कानपुर सिटी हाउसिंग स्कीम बसाने के लिए केडीए अहमदाबाद की तर्ज पर जमीन की पूलिंग करेगा। जिसमें कि किसानों से जमीन खरीदने के बजाए रोड, पार्क , फुटपाथ आदि डेवलप करने के बाद बची हुई डेवलप्ड जमीन का भ्0 परसेंट हिस्सा (प्लाट)मालिकों को वापस कर देगा। वह अपने मन के मुताबिक प्लॉट बेच सकेंगे या फिर होल्ड कर सकेंगे। हाउसिंग स्कीम को डेवलप करने में लगे समय के दौरान जमीन मालिकों को मिनिमम वेज भी दिया जाएगा। इसके लिए गुजरात की तर्ज पर स्टेट में पॉलिसी तय हो रही है। जिसे जल्द ही कैबिनेट में रखा जाएगा.

एडमिनिस्ट्रेशन ने खड़े किए हाथ

दरअसल केडीए की मैनावती मार्ग व कल्याणपुर बिठूर रोड के एक साइड क्क्ख् हेक्टेयर कब्जा प्राप्त भूमि है। केडीए ने यहां कब्जा प्राप्त भूमि को मिलाकर ब्म्ब् हेक्टेयर में न्यू कानपुर सिटी हाउसिंग स्कीम लाने की प्लानिंग की थी। लेकिन जमीन मालिक सर्किल रेट से दोगुने से अधिक कीमत मांग रहे हैं। जिसकी वजह से केडीए अलग- अलग पॉकेट में स्थित क्क्ख् हेक्टेयर जमीन पर कोई स्कीम नहीं ला पा रहा है। इसको लेकर केडीए ने एडीएम एलए समीर वर्मा के साथ मीटिंग की। सफलता न मिलते देख केडीए अपनी क्क्ख् हेक्टेयर जमीन के आसपास प्राइवेट भूमि लेने के लिए जमीन पूलिंग का रास्ता अपनाने जा रहा है। डेवलपमेंट अथॉरिटीज के जमीन के बैंक को बढ़ाने के लिए पिछले दिनों स्टेट गवर्नमेंट ने ऑफिसर्स की एक टीम अहमदाबाद भेजी थी। जहां जमीन मालिकों से ली गई जमीन के भ्0 परसेंट एरिया में सड़क, पार्क, ग्रीनबेल्ट आदि डेवलप किया जाता है। डेवलपमेंट के बाद बची हुई जमीन का भ्0 परसेंट हिस्सा अथारिटी जमीन मालिकों को लौटा देती है। डेवलपमेंट के दौरान जमीन मालिकों को हर महीने धनराशि भी दी जाती है। इसी तर्ज पर यूपी गवर्नमेंट पालिसी बना रही है। जिसे कैबिनेट में रखने की तैयारी हो रही है। केडीए वीसी के। विजयेन्द्र पाण्डियन ने बताया कि डेवलप्ड हाउसिंग स्कीम की जमीन की कीमत अनडेवलप्ड भूमि के मुकाबले कई गुना होगी। जमीन मालिक जब चाहे मनचाहे रेट पर प्लॉट बेच सकते हैं.

जूही राखी मंडी में हाउसिंग स्कीम

प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत जूही राखी मंडी में केडीए बहुमंजिले मकान बनाएगा। जिन्हें बस्ती में रहने वालों को दिया जाएगा। उनसे खाली हुई जमीन पर केडीए हाउसिंग स्कीम डेवलप करेगा। इसके लिए सर्वे शुरू हो गया है.

आवास विकास को सीलिंग की पॉवर

आवास विकास के एक्सईएन को अवैध निर्माण रोकने के लिए केडीए ने सीलिंग पॉवर दी है। केडीए के मुताबिक हाईकोर्ट की डायरेक्शन के मुताबिक गाजियाबाद में भी आवास विकास को पॉवर दी गई है.

आरडब्ल्यूए गठित होंगी

केडीए वीसी ने बताया कि चन्द्र गंगा अपार्टमेंट कॉमन एरिया में जेनरेटर रूम बना लिया गया है। रेजीडेंट्स ने इसकी शिकायत की है। जल्द ही जांच कर कार्रवाई की जाएगी। उन्होंने कहा कि अपार्टमेंट एक्ट के तहत अपार्टमेंट्स में रेजीडेंट वेलफेयर एसोि1सएशन गठित कराई जाएगी.

जाजमऊ टीला में अवैध कब्जों का सर्वे शुरू

ऐतिहासिक जाजमऊ टीले में अवैध कब्जों को लेकर केडीए, एडमिनिस्ट्रेशन, पुलिस व एएसई की टीम ने सर्वे किया। केडीए ऑफिसर्स के मुताबिक नेक्स्ट वीक अवैध कब्जे हटाए जाएंगे.

लाखों खर्च, फिर भी जानवर सड़कों पर (9/12/2016) - कानपुर संवाददाता : शहर को स्मार्ट बनाने की तैयारी चल रही है लेकिन आवारा जानवरों के बढ़ते आतंक को रोकने के लिए कोई खाका नहीं तैयार किया गया है। नगर निगम के दावे तो बहुत हैं लेकिन हर सड़क और गली पर आवारा जानवरों के झुंड हकीकत उजागर कर रहे हैं। गाय, सांड़, सुअर, कुत्ताें ने लोगों का चलना दूभर कर दिया है तो छतों पर उछलकूद मचाते बंदरों का खौफ भी घरों के अंदर कैद रहने को मजबूर कर रहा है।
केस्को : जर्जर सिस्टम से 150 करोड़ का झटका (9/12/2016) - कानपुर-संवाददाता : सारा जिस्म छलनी है, दर्द है परेशां के उठूं कहां से.. कुछ ऐसा ही हाल केस्को के लाइन लॉस का है। अरबों के लाइन लॉस के लिए कटियाबाज गुनाहगार हैं तो विभाग की बदइंतजामी और जर्जर सिस्टम भी कम जिम्मेदार नहीं है। 1 शहर का दो तिहाई वितरण नेटवर्क अपनी उम्र पूरी कर चुका है। इससे केस्को को हर साल 150 करोड़ रुपये का चूना लग रहा है। बीते वित्तीय वर्ष में केस्को की 231.1 मिलियन यूनिट बिजली हवा में उड़ गई। केस्को ने 4461.84 मिलियन यूनिट बिजली खरीदी थी लेकिन जर्जर सिस्टम के चलते केवल 4230.68 मिलियन यूनिट ही बिजली बेच पाया।
नियम तोड़ना शान नहीं, नासमझी (9/12/2016) - कानपुर-संवाददाता: यातायात नियम तोड़ने में लोग अपनी शान समझते है। यह भूल जाते हैं कि उनकी यह गलती खुद व दूसरों के लिए कितनी खतरनाक हो सकती है। सबसे ज्यादा हादसे बेतरतीब वाहन चलाने व नियमों को तोड़ने के दौरान होती हैं।1रेलवे क्रासिंग बंद होने पर लोग जल्दी निकलने के चलते विपरीत दिशा में बाइक खड़ी कर देते हैं। फाटक खुलने पर विपरीत दिशा में वाहनों के आने पर जाम लग जाता है। इसका असर घंटों बना रहता है। हद तब हो जाती है कि क्रासिंग का गेट बंद होने के बाद भी दोपहिया वाहनों को झुकाकर लोग निकालने लगते हैं। ऐसा करने के दौरान कई बार ट्रेन के चपटे में लोग आ चुके हैं।
कानपुर – डॉक्टरों के लिए पहेली बना विचित्र बुखार (9/23/2016) - ग्रामीण और शहरी इलाकों में कहर बरपा रहा ‘विचित्र बुखार’ चिकित्सकों के लिए पहेली बना है। इस बुखार को फैलाने वाले वायरस की पहचान अभी तक नहीं हो पाई है। जीएसवीएम कानपुर, केजीएमयू लखनऊ एवं दिल्ली के माइक्रो बायोलॉजिस्ट वायरल के इस बदले रूप से किसी निष्कर्ष पर नहीं पहुंच पा रहे हैं। स्थिति की गंभीरता को देख कानपुर समेत कई शहरों से बुखार पीड़ितों के रक्त नमूने पुणो के नेशनल इंस्टीट्यूट आफ वायरोलाजी में भेजे गए हैं, जहां वैज्ञानिक उन पर शोध कर रहे हैं।
कानपुर,ट्रैफिक के हाइटेक कंट्रोल रूम का काम शुरू (11/28/2016) - कानपुर,शहर के 75 चौराहों पर 32 करोड़ रुपये से इंटीग्रेटेड ट्रैफिक मैनेजमेंट सिस्टम लागू करने की कवायद तेजी से चल रही है। चौराहों और तिराहों पर सिग्नल लगाने के बाद कंट्रोल रूम का काम शुरू हो गया है। एसपी ट्रैफिक ने कंट्रोल रूम निर्माण के लिए रविवार को भूमि पूजन किया।
फ्रैक्चर ट्रैक पर पास करा दी गईं कई ट्रेनें (11/30/2016) - दिल्ली रूट पर भरथना और अछल्दा स्टेशन के बीच साम्हो स्टेशन के पास डाउन लाइन पर ट्रैक फ्रैक्चर हो गया। चटकी पटरी से ऊंचाहार (14218) एक्सप्रेस गुजरने के बाद पता चला तो हड़कंप मच गया। आनन-फानन में ट्रेन संचालन बंद कराया गया।
Advertisements

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / Change )

Connecting to %s