कानपुर और आसपास जिलों में आंधी-पानी से भारी तबाही

कानपुर, बुन्देलखण्ड और आसपास जिलों में बुधवार आधी रात आए तूफान से भारी तबाही हुई। कानपुर और कानपुर देहात में ही आठ लोगों की मौत हो गयी। कई जिलों में आंधी से भड़की चिनगारी ने दो सौ से ज्यादा ग्रहस्थी खाक में मिला दीं। रात भर जिलों की बिजली गुल रही, सैकड़ों पेड़ धराशायी हो गए जिससे कई जगह यातायात घंटो बाधित रहा। चित्रकूट में लखनऊ-जबलपुर रूट पर गिरे पेड़ से चित्रकूट एक्सप्रेस का इंजन टकरा गया, बड़ा हादसा तो बच गया लेकिन रेलवे रूट कई घंटे बाधित रहा। बारिश और ओलावृष्टि से फसलों को भारी नुकसान हुआ है।

कानपुर में चार की मौत

कानपुर में तेज आंधी के साथ बारिश से चार लोगों की मौत हुई और कई लोग दीवार और पेड़ गिरने से घायल हुए। शहर के कई इलाकों में रोड पर पेड़ और बिजली के खंभे गिरने से यातायात भी बाधित हुआ। घाटमपुर थाने भदेवना गांव में टिन शेड गिरने से 60 वर्षीय बृजमोहन यादव की मौत हो गई। वह टिन शेड के नीचे ही सो रहे थे। बिधनू थाना क्षेत्र के चंपतपुर में पड़ोस का टिन शेड उड़कर रामकिशन की 38 ‌‌वर्षीया पत्नी सुनीता पर गिरा। सुनीता की भी मौके पर ही मौत हो गई। महाराजपुर थाना क्षेत्र के बड़ा गांव में दीवार गिरने से 60 वर्षीय सूरजबली उत्तम की मौत हो गई। वहीं महाराजपुर के ही खरौंती गांव में आकाशीय बिजली गिरने से 60 वर्षीय श्यामसुंदर की मौत हो गई। आंधी और बारिश के वक्त श्यामसुंदर खेत में काम कर रहे थे डिप्टी सीएम की रात्रि चौपाल के लिए छाजा गांव में लगाया गया पंडाल उड़ गया।

फसलों की तबाही
आंधी-बारिश से गेहूं की फसल को सबसे ज्यादा नुकसान पहुंचा। अभी भी 30 फीसदी से ज्यादा किसानों ने फसल नहीं काटी है। आम की फसल पहले से ही खराब थी। तेज हवाओं ने इसे भी काफी नुकसान पहुंचाया। खरबूजा, तरबूज, लौकी, खीरा को भी नुकसान पहुंचा है। पुरवाई चलने के कारण खरबूजा की मिठास पर भी असर पड़ रहा है। खीरा आदि की बेलें उलझ जाने से किसानों को काफी मेहनत करनी पड़ेगी। मक्का की बुआई 15 मई से आसान हो गई है।

कानपुर देहात में तीन मरे

कानपुर देहात में तूफान ने भारी तबाही मचायी, यहां तीन लोगों की मौत हो गयी। डेरापुर थाना क्षेत्र के फरीदपुर निटर्रा के मजरा मल्लाहनपुर्वा में आँधी में टीन और मलबा गिरने से स्वदेवी (41) की मौत हो गयी। इसी तरह सट्टी थाना क्षेत्र के नौबादपुर में आँधी में आवास ढहने से मलबे में दबकर छुन्नूलाल (52) की मौत हो गयी। राजपुर में पेड़ गिरने से साधूराम (52) घायल हो गए। सिकंदरा थाना क्षेत्र के कुचैता गाँव में आँधी में दीवार गिरने से प्रताप सिंह (82) की मौत हुई। आंधी व पानी से जिले भर में दो सौ से ज्यादा बिजली के पोल उखड़ गए जिससे पूरे जिले की बिजली गुल हो गई।

चित्रकूट में ट्रेन फंसी, बच्ची की मौत

चित्रकूट में तूफान ने रात भारी तबाही मचायी। सैकड़ों पेड़ धरासाई हो गए, बिजली के पोल व तार टूट जाने से पूरे जिले में रात एक बजे से बिजली आपूर्ति ठप है। मकानों व दुकानों में लगी टीन उड़ गई। कर्वी के एसडीएम कालोनी के पीछे  सरकारी भवन की चहारदीवारी गिरने से मलबे में दबने से12 साल की प्रीती की मौत हो गई। वह अपनी मां पुनीता के साथ दीवार के बगल में बंधी गाय लाने गई थी। एम्बुलेंस दो घंटे घण्टे बाद पहुँची, इलाज समय पर मिलता तो जान बच सकती थी।

भरतकूप-शिवरामपुर रेलवे ट्रैक पर आंधी के दौरान गिरे पेड़ से लखनऊ से जबलपुर की ओर जा रही चित्रकूट एक्सप्रेस का इंजन टकरा गया। बड़ा हादसा तो बच गया लेकिन ट्रेन कई घण्टे खड़ी रहने से रेलवे यातायात बंद रहा।

बाँदा में तेज हवाओं के साथ झमाझम बारिश से जनजीवन अस्तव्यस्त हो गया है।  पूरे जिले की बिजली आपूर्ति रात पौने एक बजे से ठप हो गई।कई जगह पेड़ गिरने से बिजली खंभे टूटे। बिजली ने लोगों को एकएक बाल्टी पानी को भी तरसा दिया। मंडियों में रखा अनाज भीग गया। कच्चे मकानों के खपरैल उड़े और तीन टप्पर भी उड़ गए।

उरई में 20 घर जले
कदौरा ब्लाक के निस्वापुर गांव में रात लगी आग को आंधी ने ऐसा भड़काया कि उसकी चपेट में आकर 20 घर खाक हो गए। ऐन वक्त पर पानी बरसने आग बुझ गई जिससे पूरा गांव आग की चपेट में आने से बच गया। पेड़ टूटने से रामपुरा में एक मजार व एक मंदिर क्षतिग्रस्त हो गया। सड़कों पर पेड़ गिरने से कई प्रमुख सड़कों पर जाम लगा रहा।

हमीरपुर में मंत्री-डीएम ने बुझाई आग

हमीरपुर के चिकासी थानाक्षेत्र के मगरौठ गांव में घूरे में सुलग रही चिंगारी देर रात आंधी आने पर भड़क उठी। देखते-देखते दर्जन भर से अधिक मकानों को अपनी चपेट में ले लिया। धू-धू कर जल रहे मकानों को देख ग्रामीण परिवार सहित घरों से बाहर निकलकर भागे। गांव में चौपाल व रात्रि प्रवास के चलते गांव में मौजूद जिले के प्रभारी मंत्रीमनोहरलाल पंत और जिलाधिकारी खुद बुझाने में जुट गये। तड़के 3 बजे आग पर काबू पाया जा सका। सुबह तक मंत्री के साथ ला प्रशासन राहत व बचाव कार्य में जुटा रहा।  जिले में आंधी से सैकड़ो बिजली के खम्भे गिर गए जिससे पूरे जिले बिजली व्यवस्था ध्वस्त हो गई। खरीद केंद्रों पर रखा हजारों कुंतल गेंहू भीग गया। कन्नौज में पेड़ के नीचे दबे दूल्हे के भाई की मौत, बिन दुल्हन लौटी बारात

सौरिख थाना क्षेत्र के ग्राम तरींद में बुधवार की रात गांव के मिन्टू अली की पुत्री रुकसाना बानो की बारात पड़ोसी ज़िला मैनपुरी के ग्राम ओक्षा थाना ओक्षा से आई थी। बारातियों को नाश्ता कराया जा रहा था, इसी बीच आंधी आ गई। आंधी के झोंकों से पुराना नीम का पेड़ उखड़ कर गिर गया। उसके नीचे कई बाराती दब गए। दूल्हे का भई मोहम्मद मोनिस (15) भी उसके नीचे दब गया, जिससे उसकी मौत हो गई। इस हादसे में आठ लोग गम्भीर रूप से घयाल हुए। घायलों सैफई ले जाया गया। निकाह की रस्म भी पूरी किए बिना रात में ही बारात वापस चली गई।

फतेहपुर में जनजीवन प्रभावित

तूफान से फतेहपुर में जनजीवन पर व्यापक असर पड़ा। बिजली  व संचार व्यवस्था छिन्न भिन्न हो गयी। बिजली गुल होने से शहर समेत कई इलाकों में लोगों को पानी संकट से जूझना पड़ा। भीगने से फसल की कटाई प्रभावित हुई है, खरीद केंद्रों में आसमान के नीचे पड़ा हजारों कुंतल गेहूं भीग गया है। बारिश से ईंट भट्ठा कारोबार पर भी असर पड़ा है।

इटावा-औरैया में तेज आंधी के बाद बारिश से कई जगह पर पेड़ उखड़ गए। खेतों में पड़े गेहूं के बंडल भीगने से काफी नुकसान हुआ। आम की फसल को भी काफी नुकसान हुआ। कई जगह बिजली पोल उखड़ने और तार टूटने से बिजली आपूर्ती ठप हो गय़ी। फर्रुखाबाद में शहर और देहात में बिजली की आपूर्ति लड़खड़ा गई। आंधी-पानी ने किसानों की बेचैनी बढ़ा दी है। गोहूं भीगने के साथ खेतों में पड़ा भूसा उड़ा। उन्नाव में आंधी पानी से कई पेड़ जमीदोज हो गए और बिजली व्यवस्था चरमरा गई।हरदोई में आंधी पानी से गेंहू की कटाई बाधित हुई और 100 से ज्यादा गांवों की बिजली गुल हो गई।

Advertisements

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

w

Connecting to %s

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.